Reporting :- मेघा तिवारी

 

वाराणसी: पैसे हड़पने के मामले में , वाराणसी के एसएसटी टीम सहित सीडीपीओ और एसआई समेत 7  हुए गिरफ्तार

 

 

चुनाव ड्यूटी में लगी टीम ने वाराणसी के जंसा के कतवारूपुर में कत्था कारोबारी से जांच के नाम पर साढ़े चार लाख रुपये हड़प लिया। इस मामले में स्टैटिक सर्विलांस टीम के आठ लोगों को निलंबित करते हुए बुधवार को सात को गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तार अभियुक्तों में सीडीपीओ और पांच पुलिसकर्मी समेत आठ लोग शामिल हैं ।

 

 

 

गिरफ्तार लोगों में बाल विकास विभाग के सीडीपीओ (मजिस्ट्रेट), दरोगा समेत कुल सात लोग शामिल हैं। इनमें चार पुलिसकर्मी भी हैं। वहीं जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी ने सभी आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर चुनाव आयोग को भी पत्र भेजा है। सेवापुरी विधानसभा के लिए नई स्टैटिक सर्विलांस टीम गठित की गई है।

 

 

 

 

सभी पर जंसा थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था । जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा एसएसटी टीम के सदस्यों के विरुद्ध अनुशासनिक कार्यवाही करने की संस्तुति भारत निर्वाचन आयोग को की गई है । एसएसटी टीम ने मंगलवार शाम कत्था कारोबारी से कब्जे में लिए गए साढ़े चार लाख रुपये आयकर विभाग में जमा नहीं कराए थे । वाराणसी के जिलाधिकारी सह जिला निर्वाचन अधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि घटना के संबंध में जंसा थाने में एसएसटी टीम के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है । एसएसटी में शामिल पांच पुलिसकर्मियों सहित 8 लोगों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर गिरफ्तार कर लिया गया है

 

 

 

 

यह है मामला

 

 

भदोही के अहमदगंज स्थित आनंदनगर निवासी वीर चौरसिया सात फरवरी को अपने दोस्त उमेश यादव के साथ कारोबार के सिलसिले में साढ़े आठ लाख नकदी लेकर बाइक से वाराणसी आ रहे थे। जंसा थाना अंतर्गत कतवारूपुर के पास स्टैटिक सर्विंलांस टीम की चेकिंग देख कर कत्था कारोबारी वीर चौरसिया बाइक से उतरकर पैदल ही आगे बढ़ने लगा।

 

 

इसी बीच एसएसटी में शामिल मजिस्ट्रेट, दरोगा और पुलिसकर्मियों ने शक होने पर उसको रोककर जांच की तो रकम मिली। इसके बाद रकम के स्रोत के बारे में पूछताछ की। इस दौरान साढ़े आठ लाख की रकम में से साढ़े चार लाख का हिसाब व्यापारी द्वारा नहीं देने पर टीम में शामिल सभी लोगों ने साढ़े चार लाख रुपये आयकर विभाग में जमा कराने के नाम पर कब्जे में ले लिए।

 

वहीं टीम ने जब्त रुपये को जमा न कराकर खुद ही हड़प लिया। इसके बाद व्यापारी ने जंसा पुलिस में इसकी शिकायत की। इसके बाद जांच में एसएसटी की भूमिका संदिग्ध होने पर जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने एडीएम सिटी व अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण की टीम से पड़ताल कराई। मंगलवार की रात इस आपराधिक कृत्य का खुलासा होने के बाद मुकदमा दर्ज कराकर कार्रवाई की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *