Reporting –  मेघा तिवारी

 

मध्य प्रदेश के भिंड जिला अस्पताल में गुरुवार शाम उस वक्त हड़कंप मच गया जब वॉर्ड बॉय ने यहां तैनात स्टाफ नर्स को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया. अस्पताल के वॉर्ड बॉय रितेश शाक्य ने नर्स नेहा चंदेल को गोली मार दी. उसको मौत के घाट उतारने के बाद रितेश ने हत्या में इस्तेमाल कट्टे के साथ थाने में सरेंडर कर दिया. पुलिस को आशंका है कि रितेश ने एक तरफा प्यार के चलते वारदात को अंजाम दिया.

अस्पताल से मिली जानकारी के मुताबिक, भिंड जिला अस्पताल में नेहा स्टोर इंचार्ज थी. वह मंडला की रहने वाली थी. वह भिंड की हाउसिंग कॉलोनी में रहती थी. नेहा गुरुवार शाम को भी जिला अस्पताल के स्टोर में ही थी. उसी दौरान वॉर्ड बॉय रितेश ने नेहा की कनपटी पर गोली मार दी. गोली लगते ही वह कुर्सी पर ढेर हो गई. घटना की खबर लगते ही अस्पताल में हड़कंप मच गया.

बताया जाता है कि वारदात के करीब एक घंटे बाद रितेश शाक्य ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया. रितेश नर्स से 5 साल बड़ा है और 2 बच्चों का पिता बताया जा रहा है. मंडला निवासी नर्स नेहा चंदेल की हत्या के मामले में पुलिस को प्रेम-प्रसंग की आशंका नजर आ रही है. पुलिस का मानना है कि एकतरफा प्रेम के चलते वारदात को अंजाम दिया गया है. पुलिस के मुताबिक नेहा की इसी महीने फरवरी में शादी होने वाली थी. लेकिन, किन्हीं कारणों से स्थगित हो गई. पुलिस ने घटनास्थल से मोबाइल भी जब्त किया है.

हिफाजत के लिए नर्स रखने लगी चाकू- मर्ची स्प्रे

भिंड जिला अस्पताल में पहले भी कई घटनाएं हुई हैं. सात साल पहले लेबर वार्ड में फायरिंग हुई थी, इसके अलावा कई बार अटेंडर के गुस्से का शिकार नर्सों को होना पड़ा है. भोपाल की रहने वाली नादमा सात साल पहले भिंड के जिला अस्पताल में पदस्थ हुई है. वो कहती हैं- जब मैं यहां पदस्थ हुई तो उस समय लेबर रूम में फायरिंग हुई. इस घटना के बाद मैं डर गई. जिला अस्पताल में रहने तक के लिए हॉस्टल नहीं है. ऐसे में किराए से कमरा लेकर रहना होता है. मेरे साथ कोई वारदात न हो, इसलिए साथ में हमेशा एक चाकू और मर्ची पेपर स्प्रे लेकर चलती हूं. नर्स का कहना है कि यहां पदस्थ दो सौ से अधिक नर्सें दूसरे जिले की हैं. जिनमें कई नर्सें अपनी सुरक्षा के लिए चाकू और मर्ची पेपर स्प्रे लेकर आती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *