wine, whiskey
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

जो लोग शराब पीते हैं, उनमें कुछ लोग वाइन को काफी शौक से पीते हैं. यह फलों के फ्रेश ज्यूस से बनाई जाती है. ये तो आपने सुना होगा कि अंगूरों को पीसकर या उनका रस निकालकर वाइन बनाई जाती है. लेकिन, ग्रीस में कुछ जगह पर समुद्र के पानी से वाइन बनाई जाती है. इस तरह की वाइन बनाने के लिए पहले अंगूरों को काफी दिन तक समुद्र के पानी में रखा जाता है और फिर इसके नमक से खास वाइन तैयार होती है.

ऐसे में जानते हैं कि यह खास तरह की वाइन कैसे बनती है और यह किस तरह से खास होती है. अगर आप वाइन पीते हैं तो आप भी इससे बनने के तरीके के बारे में जानकर शायद इसे पीना पसंद करेंगे…

कहां बनाई जाती हैं ये वाइन?

यह खास तरह की वाइन ग्रीस के द्वीप थासोस में तैयार की जाती है. यहां के समुद्र में यह खास वाइन बनाई जाती है और इस तरह की वाइन बनाने के लिए यहां जर्मनी से भी लोग आते हैं. जर्मनी से आए लोग वहां जाकर वाइन बनाने का काम करते हैं. इस तरह की वाइन एक्वानॉइन वाइन कहा जाता है.

कैसे बनाई जाती है ये वाइन?

डीडब्ल्यू की एक रिपोर्ट के अनुसार, ये वाइन बनाने के लिए पहले अंगूरों को तोड़कर कुछ जालीदार टोकरियों में भरा जाता है. इन टोकरियों को फिर पूरी तरह से बंद कर दिया जाता है. इसके बाद गोताखोर की मदद से अंगूरों से भरी इन टोकरियों को समुद्र में 15 मीटर नीचे रखा जाता है. इन टोकरियों को खास बैलून से बांध किया जाता है. यह टोकरियां करीब 5-6 दिन तक पानी में रहती हैं, यानी अंगूर समुद्र के पानी में डुबे रहते हैं. इससे समुद्र का पानी इसके टेस्ट को पूरी तरह बदल देता है और खास बनाता है. इस वाइन में नमक का काफी अहम रोल होता है और ये है टेस्ट का बदलता है.

नमक वाला पानी वाइन का टेस्ट बढ़ाता है, वैसे ये वाइन बनाने का यहां का काफी पुराना तरीका है. अब ये पुराना तरीका ही लोगों को आकर्षित कर रहा है और इसे खास तरीके से बनाया जा रहा है. माना जाता है कि वाइन बनाने का ये तरीका करीब 2000 साल पुराना है. इसके अलावा खास बात ये है कि यहां की जमीन भी अंगूरों के लिए उपजाऊ है. लेकिन, यहां 60 साल पहले लोगों ने वाइन बनाने के इस काम को छोड़ दिया था और अब जर्मनी के लोग इसे वापस शुरू कर रहे हैं.

रिपोर्ट के अनुसार, ‘यहां के लोगों को कहना है कि पहले यहां लोग वाइन बनाने का काम करते थे, लेकिन सरकार ने इस उद्योग को प्रमोट करने के लिए कुछ भी नहीं किया है. यहां के पुरखे यहां शराब का काम करते थे और उन्हें लोग पीना भी पसंद करते थे. लेकिन अब यह बिजनेस काफी कम हो गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *