आगरा: उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल (Anandiben Patel) ने मंगलवार को आगरा के डॉक्टर भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय के 86वें दीक्षांत समारोह के दौरान छात्रों को आत्मविश्वास से काम लेने और सकारात्मक सोच में विश्वास करने के लिए प्रोत्साहित किया. उन्होंने विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में ‘हैप्पीनेस सेंटर’ खोलने पर भी जोर दिया और शिक्षकों से बेहतर भविष्य के लिए छात्रों के सामने आने वाली समस्याओं पर चर्चा करने को कहा.

आनंदीबेन पटेल ने इस बात पर जताई नाराजगी

आनंदीबेन पटेल (Anandiben Patel) ने पिछले शिक्षा की गुणवत्ता, फर्जी डिग्री और तीन-चार साल से डिग्रियों के लंबित रहने पर भी असंतोष जताया. उन्होंने उन शिक्षकों की भी आलोचना की, जो पिछले 30 वर्षों से विश्वविद्यालय में काम कर रहे हैं और विश्वविद्यालय और उसके छात्रों के उत्थान में कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं. उन्होंने शैक्षणिक सत्र 2019-20 के दीक्षांत समारोह (Convocation) में शिक्षकों, छात्रों और अन्य को संबोधित करते हुए कहा, ‘छात्रों को आत्मविश्वास से भरा होना चाहिए और सकारात्मक सोच में विश्वास करना चाहिए. उन्हें नकारात्मक सोच में विश्वास नहीं करना चाहिए और ईमानदारी से काम करना चाहिए.’

‘यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में होने चाहिए हैप्पीनेस सेंटर’

इस बात पर प्रकाश डालते हुए कि आज के छात्र शिक्षकों की तुलना में प्रौद्योगिकी को अपनाने में बेहतर हैं, राज्यपाल ने कहा, ‘शिक्षक ऐसे छात्रों से टेक्नोलॉजी में मदद क्यों नहीं लेते और उन्हें समितियों में शामिल क्यों नहीं करते हैं?’ उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि राज्य के विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में एक ‘हैप्पीनेस सेंटर’ होना चाहिए, जहां छात्र कुछ समय बिता सकें और अपने सकारात्मक या नकारात्मक विचारों को अन्य छात्रों के साथ साझा कर सकें. यहां तक कि शिक्षकों को भी इन केंद्रों पर जाकर छात्रों से चर्चा करनी चाहिए.

सर्दी का सितम, प्रदेश के कई इलाकों में जमने लगी बर्फ की चादर, यहां 3 डिग्री तक पहुंचा पारा…

सर्दी का सितम, प्रदेश के कई इलाकों में जमने लगी बर्फ की चादर, यहां 3 डिग्री तक पहुंचा पारा…

डेली ताजा ख़बरों को जानने के लिए नीचे दिए लिंक पैर क्लिक करें

https://chat.whatsapp.com/Bqg3wxfWjJRK5u5dPSeLJ0

Leave a Reply

Your email address will not be published.